What is IPO in Hindi ? What is IPO in share market in hindi

What is IPO in Hindi – आईपीओ meaning in hindi aur What is IPO in share market in hindi and What is  आईपीओ investment in hindi थोड़ा जानेंगे Upcoming आईपीओ in hindi Aur हाल ही में आया था sbi card IPO.

लो मै आ गया एक नए ब्लॉग के साथ । शेयर मार्किट की इस सीरीज में आपका दिल से स्वागत है आज हम बात करने वाले What is IPO in Hindi. जैसा की आप शेयर मार्किट से पूरी तरह वाकिफ हो चुके हैं की शेयर मार्किट क्या है और यह कैसे काम करता है अगर नहीं जानते तो सबसे पहले आप इसे पढ़िए फिर यहाँ आईये इससे आपको शेयर मार्किट और आईपीओ को समझने में आसानी होगी .

Share market in hindi || share market knowledge

What is IPO in Hindi ?

 

What is IPO in Hindi

आईपीओ  जिसका Full Form या पूर्ण रूप होता है Initial Public Offering. इसमें कोई इतना बड़ा राकेट साइंस नहीं होता.साधारण शब्दों या आम जन की भाषा में कहूं तो इसका मतलब इतना है कोई भी कंपनी है अब वह कैसे चलती है पैसो से न. So ,Money is Ultimate resource.

चलिए आप का example  देता हु मान लीजिये आपको एक कंपनी खोलना है आपने पैसे या पूँजी लगाई , अब मान लो कंपनी अच्छा ग्रो कर रही तो आपको अपने Company को बढ़ाने की लिए ज्यादा पूँजी चाहिए तभी तो आप अपने Employees को dege या कही भी पैसे निवेश करेंगे । मतलब मोटे तौर पर आपको जरुरत है पूँजी या पैसे की so यह पैसा कहा से आएगा ?? तो दोस्तों therefore यही आता है Concept Initial public offering का concept .आईपीओ एक जरिया या माध्यम है लोगों से पैसे लेने का. तो चलिए जान लेते hai कि आईपीओ कैसे होता है ? और कब होता है ?

What is IPO in share market in hindi ?

जब कोई कंपनी पब्लिक को पहली बार अपने Shares बेचती है उसी को Initial Public Offering कहते hain. आईपीओ में  company अपने शेयर्स बेच देती है और उसके बदले वो Fund उठाती है । इस तरह किसी भी Company को फण्ड मिल जाता है और जो लोग इसमें निवेश करते हैं उन्हें उस कंपनी की हिस्सेदारी मिल जाती hai. For example and most importantly..

अभी फ़िलहाल में कुछ दिन पहले ही sbi card ipo आया था,आप लोगो ने जरूर इसके बारे me also सुना होगा , बहुतों ने अच्छे खासे कयास लगाये थे की listing बेहतरीन होगी  probably इसे अच्छे Price में also list  होना था परन्तु in contrast, इस महामारी के चक्कर में हुआ बिलकुल विपरीत ।

Why Companies Raises Fund ? 

First of all, you should know that Companies Raises Fund due to various reasons hence lets talk about one by one..

  • For Expansion of
  • To Debt Free
  • New Products and Services को लांच करने के लिए

So that, all Companies के अलग अलग कारण हो सकते hain. और कंपनी पैसा क्यों उठाना चाहती है इसकी जानकारी हमें  Red Herring Prospectus me मिलती है. Red Herring Prospectus me कंपनी की अन्य बहुत छोटी बड़ी जानकारियां also मिल जाती hai. जैसे ..Company ka

Business detail 

capital structure

Risk Factor

Strategies

Promoters and Management 

Past Financial Data

Yah SEBI ki official website me aapko mil jayga. जैसे हाल ही me  SBI Card IPO आया था उसकी जानकारी ले सकते थे ।

Types of IPO

1.Fixed Price Issue

therefore, इसके अन्तर्गत, कम्पनी Investment Bank के साथ मिलकर एक  Fixed Rate decide करती है ,और शेयर्स अपने investors को ऑफर करती है ।और निवेशक ko inhe ipo me उसी फिक्स प्राइस में सब्सक्राइब या खरीदते hote hain जिस रेट में उन्होंने सब्सक्राइब किया होता है ।

2.Book Building Issue

इसके अन्तर्गत कम्पनी इन्वेस्टमेंट बैंक के साथ मिलकर एक Price Band Decide karti hai. so, Now investors इसी प्राइस बैंड में Bid Submit krna hota hai. Example के तौर पर

SBI Card IPO bhi Book Building issue tha. aur iska price band ₹750 to ₹755 Per Equity Share tha.

So ,इसमें Lowest price ko floor price व Highest bidding price ko Cap price kahte hain. और इन दोनों के बीच ज्यादा से ज्यादा 20% का अंतर होता है ।

How to invest in IPO in Hindi ?

So कोई भी आईपीओ Generally 3 se 10 din ke liye open Hota hai.ज्यादातर कंपनियां ३ दिनों के लिए ही खोलती है  Fixed Price में तो शेयर फिक्स रेट में मिल जाते हैं पर इशू प्राइस में बिड लगाया जाता है उसके बाद  Allotment Process होती है , और इसके बाद शेयर्स स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हो जाते हैं । और फिर हम इन्हे आसानी से Buy या Sell कर सकते है, share market ki timing me. एक चीज और यह है की आप आईपीओ में कितने भी शेयर नहीं खरीद सकते , उसमे Allotment size निश्चित होती है  आपको इसमें या इसके Multiples me allotment leni hoti hai. So lets take an example..

SBI Card IPO me एक Lot का Size 19 Shares thi Min Order Quantity 19 Shares thi. तो जिसे इसके शेयर चाहिए use 19 या इसके  Multiples में ही आपको सब्सक्राइब करना पड़ता.  अब इतना दूर आ ही गए हैं तो Primary and Secondary Market ke bare me jan lete hai . 

Primary market

मतलब जहां कहीं से हम direct market se Share Buy karte hain jaise आईपीओ ke through ya Bonds etc. kharidte hain use hi Primary Market Kahte hain.

Aur secondary market Mtlb जहां हम शेयर मार्केट के माध्यम से शेयर खरीदे उसे हम Secondary Market Kahte hain.

Conclusion, me ham yah kah skte hain ki आईपीओ me ham Primary Market se secondary Market me shift karte hain.

Finally, dosto

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आ रही हो तो आप अभी इसे अपने दोस्तो के साथ Whatsaap में share karein. अगर आप शेयर मार्केट से जुड़ी और जानकारी पाना चाहते हैं तो आप हमारी वेबाइट से जुड़े रहिए ।

Upcoming IPO in hindi , IPO news in Hindi in sab ki jankari ke liye aap jude rahiye.

Discover latest Indian Blogs

 

2 thoughts on “What is IPO in Hindi ? What is IPO in share market in hindi”

  1. Hi krishnkant ,

    First off ,congratulations on this post .this is really awesome and very useful for me because i really don’t know about it . everything takes time and we all have the same amount of hours in a day so put them to good use.we all have to start somewhere and your plan is perfect.

    Great share and thanks for sharing this awesome and knowledgeable post.

    Ofcourse i share this post with my friends !

    Reply

Leave a Comment