रामायण के 11 ऐसे अनकहे फैक्ट्ज जो शायद अपने सुने हों।। हिंदी में।। ऐसे तथ्य जो आपको जानने ही चाहिए।। 2020

Mahabharat ke 11 Facts in Hindi|| 11 Facts of Mahabharata || you must know 11 Facts of Mahabharata

 

 

साक्षात्कार….!!

नमस्कार दोस्तों..!
आज मैं मेरे इस ब्लॉग में रामायण के कुछ ऐसे  फ़ैक्ट्स बताऊँगा, जो शायद ना अपने कभी सुने होंगे ना पढ़े होंगे।
तो चलिए बिना समय गँवाये शुरू करते हैं।

फ़ैक्ट १.
क्या आप जानते है की रावण  का जब श्री राम ने वध कर दिया था उसके बाद उसके शरीर का अंतिम संस्कार नहीं हुआ था। उसके शरीर को नाग वंश  के लोगों ने ज़िंदा  करने की कोशिश की मगर वह ज़िन्दा नहीं हुआ। आज भी उसका शरीर एक ताबूत में बंद रखा हुआ है मगर श्री लंका की सरकार ने उसे खोलने पर पाबंध लगाया हुआ है।है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट २.
रामायण के हर एक हज़ार श्लोक के बाद आने वाले पहले अक्षर से गायत्री मंत्र  बनता है। रामायण में 24,000 हज़ार श्लोक हैं। और गायत्री मंत्र भी 24 अक्षरों  से मिल कर बना है। और ये रामायण का सार  भी है। इसका उल्लेख सर्वप्रथम ऋग्वेद  में मिलता है। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ३.
श्री राम 4 भाई थे मगर क्या आपको पता है की उनकी एक बहन भी थी जो उन चारों से आयु में काफ़ी बड़ी थी और माता कौसल्या की पुत्री थीं। उनका नाम शान्ता  था। एक बार अंग देश के राजा रोमपद  और रानी वर्षिणी  उनके यहाँ आए और उनके कोई शन्तान नहीं तो दशरथ ने शान्ता को उन्हें सौंप दिया था। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ४.
क्या आपको मालूम है की राम जी के चारों भाई किसके अवतार थे। श्री राम विष्णु जी  के अवतार थे। लक्ष्मण जी शेषनाग  का अवतार थे जो शीर सागर में विष्णु जी का आशन है। भरत जी उनकी ऊँगली के सुदर्शन चक्र  का अवतार थे। और शत्रुघ्न जी विष्णु जी के हाथ में उपस्थित शंखनाद  का अवतार थे। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ५.
राम जी ने भगवान शिव जिस धनुष की प्रत्यंचा चढ़ाई उसका क्या नाम था। उस धनुष का नाम पिनाग  था जिसकी रक्षा परशुराम  करते थे। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ६.
लक्ष्मण जी 14 वर्षों तक सोए नहीं थे। निद्रा देवी से उन्होंने वरदान माँगा था कि उन्हें 14 वर्षों तक नींद ना आए ताकि वे राम जी की रक्षा कर सकें। फिर उन्होंने कहा लक्ष्मण जी के बदले यदि कोई 14 वर्षों तक सोए तो ऐसा हो सकता है। फिर उर्मिला  जी लक्ष्मण जी की पत्नी 14 वर्षों तक सोयीं। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ७.
श्री राम जी जिस वन में रुके थे उस वन का नाम दंडकरण्य था। ये वन राक्षसों का गढ़ माना जाता था। ये वन अभी 36,000 वर्ग मील में फैला है। जो मध्य प्रदेश , महाराष्ट्र , रायपुर , और आन्ध्र प्रदेश में फैला हुआ है। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ८.
लक्ष्मण रेखा का उल्लेख ना ही रामचरितमानस और ना ही रामायण में है। इसीलिए इसे पेचीदा कांड समझा जाता है। जबकि इसका ज़िक्र मंदोदरी द्वारा रामचरितमानस में किया गया है।
है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ९.
रावण ऋषि विशरवा का पुत्र था इसीलिए बहुत ज्ञानी था। वो उस समय का सबसे बड़ा कूटनीतिज्ञ , रजनितिज्ञ , वास्तुशास्त्री , संगीतज्ञ था। और इन सबको मिला कर उसने एक किताब भी लिखी जिसे आज ‘लाल किताब ‘ के नाम से जाना जाता है। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट १०.
सरस्वती माता के हाँथों में जो वीणा  है वह रावण ने ख़ुद बना कर माता को भेंट करी थी। जब वह वीणा बजाता था तो तीनो लोक गूँज उठते थे। इसीलिए उसके ध्वज में भी वीणा अंकित थी
है ना फ़ैक्ट वाली बात।

फ़ैक्ट ११.
17,500 वर्ष पहले जब राम सेतु का निर्माण हुआ जो की लंका और भारत को जोड़ता है। हाल ही में नासा  ने अपने उपग्रह से एक फ़ोटो जारी की है जिसमें यह पुल नज़र आ रहा है। और आज भी मौजूद है राम सेतु को ‘ऐडम्ज़ ब्रिज’ के नाम से भी जाना जाता है। है ना फ़ैक्ट वाली बात।

तो बताइए की कैसे लगे ये फ़ैक्ट। मैं ऐसे और फ़ैक्ट रोज़ाना लाता रहूँगा। धन्यवाद।

जय श्री राम।

2 thoughts on “रामायण के 11 ऐसे अनकहे फैक्ट्ज जो शायद अपने सुने हों।। हिंदी में।। ऐसे तथ्य जो आपको जानने ही चाहिए।। 2020”

Leave a Comment