Facts of moon in hindi ।। मून के फैक्ट्स हिंदी में 2020

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस नए ब्लॉग में यहां पर आपको मिलता है Daily एक नया ब्लॉग जिसमें हम बताते है देश और दुनिया के विभिन्न तरह के फैक्ट्स, aur amazing information. इसीलिए आप हमारे ब्लॉक में बने रहिए तो दोस्तों आज का आर्टिकल शुरू करते हैं बिना कोई समय गवाएं।

मैं समझता हूं कि विषय में आगे बढ़ने से पहले हमें थोड़ा चांद या Moon का परिचय कर लेना चाहिए। चांद के बारे में नाना प्रकार की पौराणिक एवं आधुनिक कहानियां मौजूद है पर यहां पर हम पौराणिक कथाओं में ना जाते हुए यहां पर कुछ साइंटिफिक वैज्ञानिक चीजें देखेंगे और जानेंगे कि आखिर चांद के अनोखे राज और रहस्य क्या रहे और क्या है जो हमारे सामने अभी तक नहीं आ सके हैं।

Introduction Of moon

  • चांद Moon एक खगोलीय पिंड है और यह पृथ्वी का चक्कर लगाता है।
  • Moon या चांद पृथ्वी की सेटेलाइट Satellite है।
  • मून पृथ्वी Earth से 384400 किलोमीटर दूरी पर है।
  • चांद की Gravity 1.62 m/s2 है।
  • इसका कक्षीय काल 27 दिन का है।

यह रही सभी चांद या मून के बारे में कुछ बेसिक जानकारी जिसके बारे में सभी को ज्ञान होना चाहिए अतः हम पोस्ट में अब आगे बढ़ते हैं और जो हमारा  मुख्य विषय है कि Unknown Facts of Moon उस पर आते हैं। चांद बहुत खूबसूरत है और यह जब से धरती  से  हमारे साथ जुड़ा रहा है।

Facts of moon

 

Unknown Facts of moon

Moon Earth का एकमात्र स्थायी प्राकृतिक natural उपग्रह satellite है | facts of Moon यह सौर मंडल solar system का पाँचवाँ fifth सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह Natural satelite है, और ग्रह के आकार के सापेक्ष सबसे बड़ा उपग्रह है जो इसकी परिक्रमा orbit करता है। Interesting facts of moon हम चांद के बारे मैं कुछ नहीं जानते थे पर अपोलो 11 पहला मिशन था इसके बाद से हमें काफी कुछ जानकारी मिली। और तभी ही पहला कदम मानव ने रखा था।

ऐसी कई थ्योरी निकाली गई जो चांद के रहस्य को उजागर करती हैं। Nov 1969 में नासा की अपोलो मिसन में उन अंतरिक्ष यात्रियों ने चांद के ऊपर एक Impact छोडा था मतलब एक सेटेलाइट को चांद की सतह से जानबूझकर टकरा एक क्रेटर बनाने की कोशिश की गई थी और उस सेटेलाइट और मून का कांटेक्ट हुआ तब एक बैल या घंटे की तरह चांद का surface vibrate करता रहा।ऐसा मानो कोई सेटेलाइट एक ऐसी चीज से टकराई हो हो अंदर से खोखली हो। बिल्कुल एक घंटे के जैसे। अगर चांद एक नॉर्मल सॉलिड बॉडी होती तो ऐसा एक्सपेरिमेंट सक्सेस कभी नहीं होता तब साइंटिस्ट में कंक्लुजन निकाला की चांद अंदर से खोखला है।

Theories of moon formation

  • आज तक कोई Scientist यह पूरी तरह से explain नही कर पाया है कि आखिर चांद moon बना कैसे है? कुछ साइंटिस्ट कहते हैं कि कोई बड़ी सी बॉडी जब धरती से टकराई तब चांद बना पर इस सिद्धांत में Problem यह है कि चांद और धरती की Composition बहुत अलग है मतलब चांद का सतह और और उसका अंदर का भाग धरती से बहुत अलग है।
  • और कई साइंटिस्ट यह भी कहते हैं कि कोई गोल सी बॉडी space me धरती के करीब से गुजर रही थी और धरती ने इसे अपनी तरह खीच लिया। और तब से धरती के चारो ओर घूमने लगा।चांद धरती से सिर्फ चार गुना छोटा है और अगर हम चांद के साइज को देखते हुए बात करें तो प्रैक्टिकली असंभव किसी गुजरती हुई बॉडी को धरती अपनी तरफ खींच किसी भी प्रकार के Asteroid से बहुत ज्यादा बढ़ा है। Scientifically Asteroid से आराम से खींचकर चांद को नहीं कि खींच सकती।

कई साइंटिस्ट का यह भी मानना है कि मून कि नेचुरल सेटेलाइट वाली बात बिल्कुल गलत है। मतलब मून को दूसरे ग्रह के इंटेलिजेंट जंतु ने बनाया है।चांद में जितने बार भी मिसन हुए उन सब से इसके बारे में बहुत कम जाने को मिला है।

Gravitational fact of moon

चांद की gravitational force यानी गुरुत्वाकर्षण शक्ति भी अलग तरह से Act करती है। इसकी गुरुत्वाकर्षण शक्ति को समझने के लिए भी कई मिशन किए गए पर आज तक किसी को इसकी पूरी सच्चाई पता नहीं चला।

Fact of Moon size 

चांद का साइज भी एक बहुत बड़ा रहस्य है किसी भी प्लेनेट का मून उससे छोटा होता है यह बात तो ठीक है पर मून उसके ग्रह के हिसाब से बहुत छोटा होना चाहिए मतलब चांद जो है  earth के comparision में ज्यादा छोटा नहीं है । यह धरती का 1/4 है मतलब एक धरती पर चार चांद समा जायेगे। पर अगर आप बाकी ग्रहो से इसे compare करो चलिए jupitor बृहस्पति को ही ले लो जुपिटर के बहुत सारे चांद और उसके सारे चांद उसके 1/88 साइज से भी कम है। मतलब जुपिटर का चांद जुपिटर से 88 गुना छोटा है। एक जुपिटर में अट्ठासी मून समा जाएंगे। Matlab uska Chand yah satellite usse bahut chhota hai।औ साइंटिफिकली होना भी चाहिए पर धरती की बात की जाए तो धरती का चांद बकियो के मून से अधिक बड़ा है। Real Fact of moon

नासा के एक साइंटिस्ट  ROBIN BRETT ने कहा था कि चांद की होने से ज्यादा चांद कि नहीं होने को समझाना ज्यादा आसान है ।

Moon Rotational Fact

और इन्हीं सब चीजों के चलते साइंटिस्ट का शक और भी बढ़ जाता है कि चांद कहीं बनाया गया आर्टिफिशियल बॉडी तो नहीं ?

चांद का सर्कुलर ऑर्बिट यह भी एक बहुत बड़ा रहस्य चांद धरती के चारों तरफ एकदम परफेक्ट सर्कुलर ऑर्बिट में चक्कर लगाता है इस सौर मंडल में जितने भी बॉडी किसी एक बॉडी का चक्कर लगा रहा है वह कभी पर्फेक्ट Circular नही elliptical होता है।

चांद हमारी पृथ्वी को काफी हद तक कंट्रोल करता है उसी के कारण मौसम वगैरह में बदलाव होता है। बाकी ग्रहों का मून उस हद तक कंट्रोल नहीं करता जितना हमारा मून हमारी पृथ्वी को करता है।

Factual Questions

चांद का होना चांद का साइज चांद कैसे बना चांद धरती के चारों ओर एकदम परफेक्ट सर्कुलर ऑर्बिट में कैसे घूमता है चांद धरती को इतने हद तक कंट्रोल कैसे कर लेता है इन सब प्रश्नों का उत्तर विज्ञान को अभी तक नहीं मिला है और इन सब प्रश्नों का उत्तर ना होने के चलते कई वैज्ञानिकों मानने लगे हैं कि चांद दूसरे ग्रहों की जंतुओं(Aliens) ने बनाया है कई विचारको का तो यह भी मानना है कि धरती पर जिंदगी को संभव करने के लिए aliens ne चांद को बनाया और उसे बनाकर अपने सौरमंडल वापस चले। और वह अपने creation को देखने के लिए वापस आते हैं।

Facts of moon

अपोलो 11 के मिशन में नील आर्मस्ट्रांग और उनके crew members ने कई अंतरिक्ष यानो को देखा था। उन्होंने खुद कहा था कि उनकी spaceship ko koi track कर रहे हैं कोई उनका पीछा कर रहा हूं और कुछ लोगों का यह भी मानना है कि नासा ने आज तक इस घटना की पूरी तरह से एक्सपोज नहीं किया है। जब वो मून पर लैंड कर रहे थे तब 2 मिनट के लिए उनका कनेक्शन धरती पर मौजूद कंट्रोल रूम से टूट गया था बीच-बीच में सिग्नल ब्लॉक हो रहे थे और कोई दूसरा सिग्नल बीच में आ जा रही थी।

Conclusion

इसरो और नासा कई मिशन के लिए आगे आए हैं मै तो यही चाहता हूं कि हमें इन सब सवालों के जवाब मिल जाए।

Check Corona cases 

क्या आपको लगता है कि चांद को एलियंस ने बनाया है तो कॉमेंट के माध्यम से अपनी राय दे?

दोस्तो मुझे आशा है कि आपको ये पोस्ट पसंद आयी होगी अगर पोस्ट पसंद आई हो तो कृप्या शेयर करे । क्युकी मै ऐसी पोस्ट रोज़ लाता रहता हूं।

इसे भी पढ़े।

समय की यात्रा ।। TIME TRAVEL।। अध्याय एक।।

2 thoughts on “Facts of moon in hindi ।। मून के फैक्ट्स हिंदी में 2020”

  1. I don’t think that moon is created by alieans bcz moon is natural satellite, and the facts of moon are really very interesting .

    Reply

Leave a Comment